न्यूज़ प्लस : मण्डी : मंडी का विश्व प्रसिद्ध स्वर्णिम अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि मेला, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा विधिवत घोषणा के उपरान्त ऐतिहासिक पड्डल मैदान में आरम्भ हुआ। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रमुख देवता माधो राय के मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद, पारंपरिक जलेब शोभा यात्रा में भाग लिया, जोकि श्री राज माधव राय मंदिर से आरम्भ होकर पड्डल मैदान में सम्पन्न हुई। अपनी परम्परागत वेशभूषा पहने हजारों लोग अपने स्थानीय देवताओं के साथ शोभा यात्रा में शामिल हुए। जलेब में जिले के लगभग सभी हिस्सों से 150 से अधिक देवताओं ने भाग लिया। इससे पहले, मुख्यमंत्री ने पगड़ी समारोह में भाग लिया और श्री राज माधव राय मंदिर में पूजा की। ऐतिहासिक पड्डल मैदान में लोगों को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के शुभ अवसर पर राज्य के लोगों को शुभकामनाएं दी। यह महोत्सव इस वर्ष प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व के गौरवशाली 50 वर्ष पूरे होने पर स्वर्णिम अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि मेले के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अभी दुनिया को कोरोना महामारी से बाहर आना बाकी है इसलिए हम सभी को सतर्क और सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि संकट अभी खत्म नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि सौभाग्य से कोविड-19 मामलों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है, जोकि राहत की बात है। उन्होंने कहा कि यह लोगों द्वारा सावधानियों का पालन सुनिश्चित करने और केंद्रीय नेतृत्व द्वारा समय पर लिए गए फैसलों के कारण संभव हुआ है। जय राम ठाकुर ने कहा कि इस वर्ष मंडी शिवरात्रि का अधिक महत्व है क्योंकि इस वर्ष नगर परिषद को नगर निगम मंडी में स्तरोन्नत किया गया है। उन्होंने कहा कि नगर निगम को यह सुनिश्चित करेगा कि मंडी शहर को योजनाबद्ध और व्यवस्थित तरीके से विकसित किया जाए। उन्होंने कहा कि आज उन्होंने मंडी में कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का उद्घाटन किया है, ताकि शहर में अवांछित गतिविधियों को रोकने के लिए कड़ी निगरानी रखी जा सके। उन्होंने कहा कि इससे मंडी में यातायात व्यवस्था को नियंत्रित करने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि आज उनके द्वारा मंडी शहर के लोगों को 17.50 करोड़ रुपये की परियोजनाएं समर्पित की गईं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडी शहर के लिए सीवरेज योजना के काम में तेजी लाई गई है और शहर के सभी नालों को चैनलाइज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सुकेती खड्ड के तटीकरण के लिए 500 करोड़ रुपये की परियोजना अनुमोदन और वित्त पोषण के लिए केंद्र को भेजी गई है। उन्होंने कहा कि मंडी शहर में 50 करोड़ रुपये की राशि व्यय कर बहुउद्देश्यीय स्टेडियम का भी निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मंडी के कंगनीधार में 150 करोड़ रुपये लागत से शिवधाम परियोजना तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि मंडी को छोटी काशी के रूप में जाना जाता है और शिव धाम क्षेत्र में पर्यटकों के आकर्षण के रूप में उभरेगा। उन्होंने कहा कि मंडी शहर में बहुउद्देशीय पार्किंग का भी निर्माण किया जाएगा और इसका कार्य अगली शिवरात्रि तक पूर्ण कर लिया जाएगा। राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार का तीन साल का कार्यकाल उपलब्धियों भरा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों से समाज का हर वर्ग लाभान्वित हुआ है। उन्होंने कहा कि मेले और त्यौहार राज्य की समृद्ध संस्कृति के द्योतक हैं और इन्हें धूमधाम से मनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन को देवताओं के साथ आने वाले लोगों के लिए पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड-19 संकट के बावजूद वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए पर्याप्त प्रावधान किए हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × three =