उर्मिला ठाकुरः न्यूज प्लसः कुल्लूः प्रदेश सरकार ने 2 नवम्बर से स्कूलों एवं कालेजों को खोलने का निर्णय लिया है। जिसके अतंर्गत स्कूलों में 9वीं से 12वीं तथा कालेजों में कक्षाएं नियमित रूप से चलेंगी। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से जारी मानक संचालन प्रक्रिया ,एस.ओ.पी एवं दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा साथ ही अभि तक यह सुनिश्चित नहीं किया गया है कि विद्यार्थी स्कूल एवं कालेज में नियमित रूप से उपस्थित रहेे। यह अहम फैसला मंत्रीमंडल की बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में लिया गया। बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। बैठक में कोविड 19 महामारी के दृष्टिगत यू.जी.के दिशा निर्देशानुसार शैक्षणिक सत्र 2019.20 के प्रथम व द्वितीय वर्ष के पंजीकृत पूर्व स्त्रातक विद्यार्थियों का अगले शैक्षणिक सत्र में पंजीकरण करवाने की मंजूरी दी गई। इसी तरह शैक्ष्णिक सत्र 2020.21 के लिए प्रारम्भिक और उच्च शिक्षा विभागों मे अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे एस.एम.सी शिक्षको को मिला सेवा विस्तार। वहीं प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में स्कूल, कालेज के विद्याथियों को बुलाने पर उनकी जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया। पत्रकार वार्ता में शहरी विकास एवं आवास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा की कोरोना काल की ऐसी परिस्थिति में निर्णय नहीं लिया जा सकता, विद्यार्थी और उनके अभिभावक शिक्षण संस्थान में आने या नहीं आने पर स्वयं निर्णय ले सकते है। जो विद्यार्थी शिक्षण संस्थान में नहीं आता है उसे अनुपस्थित नहीं दर्शाया जाएगा। उन्होंने कहा कि ई- पी.टी.एम को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 − three =