चुनावी बेला के दौरान मणिकर्ण घाटी में बनेगा डबल लेन

{ पुष्पा शर्मा -ब्यूरो न्यूज़ प्लस }  –भले ही मणिकर्ण देश-दुनिया में इतना विख्यात है कि यहां आने के लिए हर कोई ललालित होता है, लेकिन हैरानी इस बात की है कि यहां के दशा को सुधारने का कदम न भाजपा और न ही कांग्रेस की केंद्र तथा राज्य सरकार सुधार पाई है। मणिकर्ण तक सड़क पहुंचे कई दशक बीत गए, लेकिन इस संकरे मार्ग को खुला करने के लिए सिर्फ आज दिनों तक योजना ही बनती गई। नेता लोग यहां के लोगों को खासकर चुनावी बेला के दौरान दावा करते हैं कि सत्ता में आते ही सड़क को खुला किया जाएगा, लेकिन नेताओं के दावों के तब हवाई साबित होते हैं, जब पांच साल बीते जाने के बाद भी योजना धरातल पर नहीं उतर पाती है। ऐसे ही एक दावा भुंतर से पुलगा तक मार्ग को डबल लेन करने का दावा भी हवाई साबित हुआ है। मार्ग संकरा होने से मणिकर्ण घाटी की जनता ही नहीं बल्कि देश-दुनिया से यहां आने वाले लोग परेशानी का सबब हर दिन बन रहे हैं, लेकिन सरकारें आश्वासनों से आगे नहीं बढ़ पाई। भले ही मार्ग को डबल लेन बनाने के लिए भारत माला सड़क परियोजना के तहत  केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा 430 करोड़ की राशि जारी करने का भी दावा किया गया है, लेकिन इसकी फाइल कहां दफन हुई है, यह एक बड़ा सवाल है। इस बार लोकसभा चुनाव में प्रत्याशियों से घाटी के लोग इसका सवाल ही नहीं उठाएंगे, बल्कि कार्य को सिरे चढ़ाने के लिए कसम खिलाएंगे। हालांकि पिछले वर्षों से इसके कार्य को धरातल पर उतारने  की हर मंच पर लोगों को लुभाने के लिए नेता लोग बात करते गए, लेकिन जमीन स्तर पर हुआ कुछ भी नहीं। वर्तमान की बात करें तो यहां  भुंतर-मणिकर्ण सड़क मार्ग की बेहद ही खस्ता हालत है और पर्यटन सीजन के दौरान तो इस मार्ग पर भयंकर जाम लगता है। इसके कारण सैलानी व श्रद्धालु बहुत परेशान होते हैं। नेताओं ने यह भी कहा था कि केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय से इस सड़क को डबल लेन बनाने के लिए मंजूरी मिल गई है और अब यह सड़क भुंतर से मणिकर्ण होते हुए पुलगा तक डबल लेन बनेगी। इसके लिए भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा 430 करोड़ का बजट भारत माला सड़क परियोजना के तहत स्वीकृत हुआ है।  इसके बावजूद बजट कहां अटक गया है, यह लोगों का बड़ा सवाल है। लिहाजा, भुंतर-मणिकर्ण मार्ग को डबललेन का दर्जा मिलने के बाद भी काम शुरू नहीं हो पाया। यह मार्ग 46 किलोमीटर लंबा होगा। यह मार्ग हाथीथान से मणिकर्ण, पुलगा रोड़ में मिलेना हैै। इस मार्ग के बन जाने से पर्यटन के रूप में भी पार्वती घाटी में चार चांद कब लगेंगे लोग खफा हैं। यही नहीं, भुंतर से मणिकर्ण डबल लेन मार्ग पर विभाग ने 682 के करीब भवन चिन्हित भी किए हैं, लेकिन काम फिर भी शुरू नहीं हुआ। इस मार्ग पर लगातार जाम से पर्यटकों के पसीने छूट जाते हैं। भुंतर से मणिकर्ण तक डबल लेन बन जाने से पर्यटकों सहित आम लोगों को जाम लगने से भी छुटकारा मिलेगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s