आदर्श और चरित्रवान नागरिक तैयार करें शिक्षक : गोविंद सिंह-

{न्यूज प्लस ब्यूरो- कुल्लू }/ जरड़ स्थित जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) ने बुधवार को समग्र शिक्षा अभियान के तहत शाढ़ाबाई के सामुदायिक भवन में एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया। गुणात्मक शिक्षा हेतु सामुदायिक जागरूकता एवं सहभागिता शिविर की अध्यक्षता वन, परिवहन, युवा सेवाएं व खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की। इस शिविर में स्कूल प्रधानाचार्यों, मुख्यध्यापकों और अन्य शिक्षाविदों के अलावा जिला के छह शिक्षा खंडों की 24 स्कूल प्रबंधन समितियों के पदाधिकारियों तथा डीएलडी प्रशिक्षुओं ने भी भाग लिया।इस अवसर पर भारतीय वायुसेना के शौर्य को नमन करते हुए गोविंद सिंह ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में केंद्र सरकार ने सैन्य बलों के उत्साहवर्धन व खुली छूट के साथ साथ पाकिस्तान को कूटनीतिक मोर्चे और अंतर्राष्ट्रीय जगत में भी पूरी तरह अलग-थलग कर दिया है।शिविर के आयोजन के लिए डाइट प्रबंधन की सराहना करते हुए गोविंद सिंह ने कहा कि शैक्षणिक ढांचे में गुणात्मक सुधार लाने के लिए आम जन की भागीदारी अत्यंत आवश्यक है। कुल्लू जिले में इसको बढ़ावा देने की दिशा में यह शिविर काफी महत्वपूर्ण साबित होगा। उन्होंने कहा कि आज औपचारिक शिक्षा के साथ-साथ बच्चों के चरित्र निर्माण की सबसे अधिक आवश्यकता है। शिक्षक और अभिभावक इस पर विशेष ध्यान दें तथा देश के लिए एक आदर्श पीढ़ी तैयार करें।
इस अवसर पर डाइट के प्रधानाचार्य एवं समग्र शिक्षा अभियान के जिला परियोजना अधिकारी डॉ चांद किशोर ने वन मंत्री का स्वागत किया तथा शिविर की विस्तृत जानकारी दी। रायसन स्कूल के प्रधानाचार्य ललित मोहन शर्मा और हाई स्कूल बदाह के एसएमसी प्रधान भगत राम ने अपने अनुभव साझा किए। डीएलडी प्रशिक्षुओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। लेक्चरर सुरेंद्र शर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस अवसर पर राज्य योजना बोर्ड के सदस्य युवराज बौद्ध, विभिन्न शिक्षण संस्थानों के प्रधानाचार्य,
डाइट के प्रवक्ता डॉ अमृत लाल, चमन लाल और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।
सराहनीय कार्य के लिए एसएमसी पुरस्कृत
प्राथमिक, मिडल, हाई और सीनियर सेकेंडरी स्तर के स्कूलों के बेहतर संचालन में उत्कृष्ट कार्य करने वाली स्कूल प्रबंधन समितियों को वन मंत्री ने पुरस्कृत किया। प्राथमिक स्कूलों में धोगी को प्रथम, चिलआगे द्वितीय और ब्यूंसबाई को तृतीय पुरस्कार दिया गया। मिडल स्कूलों में कोटाआगे, नसोगी और शमशी, हाई स्कूल में पजोही, कोयल और शिरढ़, सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में कन्या पाठशाला आनी, रायसन और बरान
को क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिए गए।
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s