जय राम को नहीं है सरकार चलाने का अनुभव

{पुष्पा शर्मा- कुल्लू} जनजातीय आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष एवं लाहुल स्पिति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर ने कहा है कि जयराम ठाकुर को सरकार चलाने का तुजर्वा नहीं है। उन्होंने कहा कि वे दवाब में कुछ भी काम नहीं कर पा रहे हैं जिस कारण वे कंफ्यूज मुख्यमंत्री बन गए हैं। कभी आरएसएस का दवाब तो कभी नड्डा,धूमल व शांता कुमार के दवाब में काम करने पड़ रहे हैं। यही नहीं अब तो कांग्रेस से गए सुखराम जैसे नेताओं का दवाब भी झेलना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री रामलाल मार्कंडेय लाहुल की जनता को सुविधा देने में नाकामयाब रहे हैं। उन्होंने चार मुद्दों पर कृषि मंत्री को घेरा है। उन्होंने कहा कि गत महीने लाहुल स्पिति में बर्फबारी से 130 करोड़ का नुकसान हुआ और कुल्लू में बाढ़ से 32 करोड़ का नुकसान हुआ।कुल्लू को फौरी तौर पर राहत राशि मिल गई है लेकिन लाहुल स्पिति को फूटी कौड़ी भी नहीं मिली। जबकि कृषि मंत्री व मुख्यमंत्री को यह राशि शीघ्र जारी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री लाहुल के लोगों को हेलीकॉप्टर सेवा मुहैया करवाने में भी असफल रहे जबकि बीआरओ से रोहतांग टनल के माध्यम से आवाजाही करवाने में भी फेल हुए। जबकि एक वर्ष पहले हमारी सरकार में रोहतांग टनल के माध्यम से भी आवागमन जारी था और हेलीकाप्टर सेवा भी लगातार जारी थी। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री को रक्षा मंत्रालय से अनुमति लेनी चाहिए थी तभी रोहतांग टनल से सप्ताह में एक बार लोगों का आवागमन होना था। उन्होंने कहा कि घाटी में इंटरनेट सुविधा एक साल से ठप पड़ी है जिस कारण सभी कार्य रुके हुए हैं लेकिन कृषि मंत्री सत्ता के नशे में चूर है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने 47 टाबर चिंहित किए थे और और लोगों से इसके एफिडेविट भी लिए गए हैं लेकिन भाजपा सरकार ने आते ही इसमें अधिकतर टाबर स्थगित किए और जो लगने भी है वहां भी भाई भतीजा बाद किया जा रहा है। सरकार दवाब बना रही है कि यह टाबर उनके रिश्तेदारों व आरएसएस के लोगों की जमीन में लगाए जाएं जहां फ्रिकुएंसी ही नहीं है। उन्होंने कहा कि जब से भाजपा सरकार आई है तब से लाहुल स्पिति के सभी विकास कार्य ठप पड़े हैं। कई विकास कार्य ऐसे हैं जो मंजूर किए थे और बजट भी था वे या तो स्थगित कर दिए हैं या फिर वहां से अन्य स्थानों को बदल दिए हैं। कई पुल स्थगित है और कइयों का काम रुका पड़ा है। स्पिति घाटी में कालेज के लिए 107 करोड़ आया था लेकिन उसे भी स्थगित किया गया जिस कारण घाटी के 500 छात्र अन्य जिलों के कॉलेजों में पढऩे गए हैं जबकि 250 से अधिक ऐसे छात्र हैं जो कालेज न होने की बजह से पढ़ ही नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि तांदी पर्यटन स्थल को विकसित करने के लिए पूर्व सरकार ने 22 करोड़ की योजना तैयार की थी और पूर्व मुख्यमंत्री ने 50 लाख की पहली किश्त जारी भी की थी और कृषि मंत्री ने यह कार्य भी स्थगित किया और मार्किट यार्ड भी शिफ्ट किया गया। उन्होंने भाजपा पर बरसते हुए कहा कि धर्म के नाम पर भारत में नफरत फैलाने का काम कर रही है। हिंदू धर्म करोड़ों वर्ष पुराना है और आज यह लोग हिंदू धर्म के ठेकेदार बन बैठे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री से मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है लेकिन जनता ने उन्हें चुना है तो उन्हें जनता के काम भी करने होंगें। उन्होंने कहा कि वे खुले मंच पर लाहुल के विकास कार्यों को लेकर कृषि मंत्री से बहस करने को तैयार है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s