परीक्षित सूद ने महज 15 की उम्र में फतह की 6110 मीटर ऊंची युनम चोटीन्यूज प्लस-डेस्कहिमाचल प्रदेश के पहाड़ों में पिछले कुछ ही वर्षों से ट्रैकिंग और हाइकिंग जैसी साहसिक गतिविधियां बड़ी लोकप्रिय हो रही है। कई युवा पर्वतारोहियों में ऊंचे पहाड़ों को नापने का भारी जुनून देखने को मिल रहा है। प्रदेश के लाहौल स्पीति व लद्दाख की सीमा को जोड़ने वाली युनम चोटी पर जिला कुल्लु के वीरेंद्र राणा की अगुवाई में नौ सदस्य पर्वतारोहियों के एक दल ने सफलतापूर्वक चढ़ाई की है। समुद्र तट से 6110 मीटर की ऊंचाई पर स्थित युनम चोटी की यात्रा कठिन ट्रैक में एक मानी जाती है। बाकायदा भारतीय पर्वतारोहण संघ की अनुमति से यह दल 12 जुलाई को मनाली से रवाना हुआ था और 16 जुलाई को प्रातः 10:30 बजे इन्होंने युनम चोटी पर पहुंचकर तिरंगा ध्वज फहराया है। इस अभियान में खास बात यह रही कि इस दल में सबसे कम उम्र के पर्वतारोही 15 वर्षीय परीक्षित सूद भी शामिल रहे जो युनम चोटी को फतह करने वाले प्रथम युवा पर्वतारोही बन गए हैं। सोशल मीडिया पर परीक्षित सूद को बधाई देने वालों का तांता लग गया है जो इस युवा पर्वतारोही ने तीर्थन घाटी के साथ साथ अपने बिड़ला पब्लिक स्कूल कुल्लु का भी नाम रोशन किया है।उपमंडल बंजार की तीर्थन घाटी में मशहूर सनशाइन कॉटेज के मालिक पंकि सूद व सोनू सूद के पुत्र परीक्षित सूद पढ़ाई के साथ-साथ साहसिक खेलों में भी काफी रूचि रखते हैं जो इस समय बिड़ला पब्लिक स्कूल कुल्लु में दसवीं कक्षा के छात्र है। इनके पिता पंकि सूद ने बताया कि परीक्षित सूद इससे पहले भी तीर्थन घाटी विश्व धरोहर ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में स्थित काया पीक 5150 मीटर पर 13 साल की उम्र में चढ़ाई कर चुका है। इसके अलावा यह स्कीइंग, पैराग्लाइडिंग, स्वीमिंमिंग, रैपलिंग जैसी अन्य साहसिक खेलों में भी भाग लेता रहता है।परीक्षित सूद का कहना है कि कड़े अभ्यास और बुलंद हौसलों से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। इसने बताया कि युनम चोटी 6110 मीटर को फतेह करने से पूर्व तीर्थन घाटी में ट्रेकिंग का पूर्वाभ्यास भी किया था जिसमें यह हप्तों तक रोजाना अपने घर से पैदल 15 किलोग्राम वजन पीठ में उठाकर देवकंडा की पहाड़ी तक जाकर अप डाउन करता रहा है। इसका अगला लक्ष्य 7000 मीटर ऊँचे पर्वत को फतेह करना रहेगा। परीक्षित सूद ने अपने माता-पिता व गुरुजनों का आभार व्यक्त किया है जिन्होंने इस की हौसला अफजाई की है और इस अभियान को करने की इजाजत दी है।जिला कुल्लू के युवा पर्वतारोही वीरेंद्र राणा के नेतृत्व में यह नौ सदस्यीय दल 12 जुलाई को मनाली से रवाना हुआ था और 16 जुलाई को युनम चोटी फतेह करने के पश्चात 18 जुलाई को सकुशल मनाली पहुंचे हैं। इस दल में युवा पर्वतारोही दलीप पठानिया 37, योगेश पांडे 42, राजेश राणा 36, विशाल ठाकुर 33, रिजवान खान 32, गगन शर्मा 37, संदीप चौधरी 36, और सबसे कम उम्र के परीक्षित सूत्र 15 वर्ष शामिल रहे।

ByNEWS PLUS

Jul 21, 2021
Spread the love