(न्यूज प्लस-कुल्लू)
लारजी झील में जल क्रीड़ा शुरु करवाने के लिए 3 अलग-अलग जल क्रीड़ा केन्द्रों का निर्माण होना प्रस्तावित है। दो वर्ष पूर्व ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के बंजार विधानसभा के दौरे के दौरान लारजी झील में वाटर स्पोर्ट्स शुरु करने की घोषणा की गई थी। वर्तमान में झील के किनारे एक जल क्रीड़ा केंद्र का निर्माण हो चुका है, जहां से जलीय खेलों का संचालन भी शुरु कर दिया गया है। इसी जल क्रीड़ा के संवर्धन के लिए लारजी-औट सड़क का 1 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से पुनर्निर्माण किया जा रहा है। इस निर्माण कार्य का मंगलवार को शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर व बंजार विधानसभा विधायक सुरेंद्र शौरी ने विभागीय अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। इस दौरान स्थानीय लारजी पंचायत के ग्रामीण भी साथ रहे। स्थानीय ग्रामीणों ने माननीय शिक्षा मंत्री से मांग रखी कि एक जल क्रीड़ा केंद्र का निर्माण लारजी रेस्ट हाउस के समीप भी किया जाए, जिसका संचालन लारजी सहकारी समीति को सौंपा जाए। जिससे अधिक से अधिक स्थानीय लोग लाभान्वित हो सके।
वर्तमान में निर्मित हो चुके जल क्रीड़ा केंद्र का संचालन पर्वतारोहण संस्थान मनाली द्वारा किया जा रहा है। इसी अवसर पर विधायक बंजार सुरेन्द्र शौरी ने शिक्षा मंत्री के समक्ष लारजी के समीप पौराणिक व सांस्कृतिक महत्व के स्नानाघाट के निर्माण की मांग रखी। जिस पर मंत्री ने आश्वासन दिया कि सबंधित विभागों से अपनी-अपनी औपचारिक्ताएं पूरी करवा कर जल्द ही स्नानाघाट का निर्माण शुरु करवाया जाएगा। शिक्षा मंत्री ने आश्वासन दिया कि एक जल क्रीड़ा केंद्र का निर्माण लारजी रेस्ट हाउस के समीप उपयुक्त जगह पर किया जाएगा।

Spread the love