(दीपक कुल्लूवीः न्यूज प्लसः भुंतरः)प्रयास फाउंडेशन भुंतर प्रतिवर्ष दिसंबर महीने में छोटे साहिबजादों व माता गुजरी की याद में गरीबों को गर्म वस्त्र, व बिस्तर आदि प्रदान करती है। इसी कड़ी में बुधवार को संस्था ने भुंतर हाथीथान की एक विधवा गरीब महिला को गर्म सूट, शाल व जुते आदि दिए। संस्था के संचालक सुरेश गोयल, सह संचालक जीवन प्रकाश व सदस्य दुगलू राम ने कहा कि इन दिनों गुरु गोविंद सिंह के दो पुत्र युद्ध में शहीद हुए थे तथा दो छोटे पुत्रों तथा माता गुजारी को सरहिंद के नवावों नें कैद कर लिया था और उन्हें किले के वुर्ज में ठंड में रखा गया | जब माता गुजारी के पोत्रों यानीं जिगर के टुकड़ों ने इस्लाम धर्म मानने से बिलकुल्ल इंकार कर दिया तो उन्हें जिंदा दीवार में चिनवा दिया था | 
    गुरु परिवार के बलिदान और ठंड में बिताई रातों को याद करते हुए प्रयास फाउंडेशन भुंतर ने हाथिथान भुंतर में रहने वाली विधवा बुजुर्ग महिला को गर्म वस्त्र व राशन भी दिया। यह बुजुर्ग महिला आज कल बीमार चल रही है इस की हालत बहुत ही नाजुक है। 
   महिला का घर में संभालने वाला और देखभाल करने वाला भी कोई भी नहीं है। एक लड़का गोद लिया हुआ है जो घर से बाहर काम करता है। संस्था पिछले महीने से ही इस महिला की मदद कर रही हैं। दो वर्ष पहले भी साहिबजादों के शहीदी दिवस के उपलक्ष में इसी महिला के साथ काफी गरीब महिलाओं को संस्था ने बिस्तर आदि प्रदान किए थे और आगे भी सेवा के लिए प्रयासरत है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 3 =